Video: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र के घर रह रही है पाकिस्तानी अरुषा आलम, शराब उड़ाते वीडियो वायरल

220

पाकिस्तानी महिला अरूषा आलम के साथ पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह के रिश्तों का राज और विपक्ष की राजनीति
नेता प्रतिपक्ष सुखपाल खैहरा ने वीडियो के साथ राहुल गांधी को भेजा पत्र

चंडीगढ,28दिसम्बर। पाकिस्तानी महिला मित्र अरूषा आलम और पंजाब के मुख्यमंत्री केप्टेन अमरिंदर सिंह के रिश्तों का राज एक अर्से से चर्चा में है। यह महिला पिछले मार्च माह में मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में भी मौजूद थी। लेकिन इस बारे में विपक्ष की राजनीति में गुरूवार को नया मोड आ गया है। नेता प्रतिपक्ष और आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता सुखपाल खैहरा ने एक दावत के दौरान अरूषा आलम द्वारा अपनी महिला साथी के साथ जाम टकराये जाने और करीब ही कैप्टेन अमरिंदर सिंह की मौजूदगी वाले वीडियो के साथ एक पत्र कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भेजा है।

इस पत्र में मुख्यमंत्री का अरूषा आलम के साथ अनैतिक बताते हुए उन्हें पद से हटाने व कांग्रेस से बाहर करने की मांग की गई है।
सुखपाल खैहरा ने पत्र में कहा है कि मुख्यमंत्री का इस तरह का व्यवहार शोभा नहीं देता है। उन्होंने राहुल गांधी को यह भी ध्यान दिलाया है कि महिला पत्रकार पर पाकिस्तान की खुफिया एजेंट होने का आरोप भी लगाया गया है।

खैहरा ने कहा है कि ऐसी महिला का पंजाब जैसे संवेदनशील राज्य में मौजूद होना खतरनाक है। कैप्टेन अमरिंदर की अरूषा आलम के साथ दावत का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। वीडियो दिलचस्प है। दावत के दौरान गाना चल रहा है….सुहानी रात ढल चुकी न जाने तुम कब आओगे। अरूषा आलम अपने करीब बैठी महिला के साथ मदहोश से शब्दों में बोलते हुए जाम टकरा रही है। मुख्यमंत्री केप्टेन अमरिंदर सिंह भी आगे की सीट पर बैठे दिखाई दे रहे है।

खैहरा ने अपने पत्र में अरूषा आलम को पाकिस्तान का रक्षा विश्लेषक बताया है। उन्होंने कहा है कि यह महिला मुख्यमंत्री के सरकारी निवास पर अवैध रूप से रह रही है। पत्र में खैहरा ने कहा कि इस तरह की सार्वजनिक दावत में मुख्यमंत्री का अपनी महिला मित्र के साथ शराब का सेवन न केवल स्वयं मुख्यमंत्री बल्कि पंजाब की प्रतिष्ठा गिराने वाला है।

उन्होंने कहा कि यह बात हैरान करने वाली है कि एक ओर हम अपने नागरिकों व जवानों को पाकिस्तान के हमलों से बचाने के लिए संघर्ष कर रहे है और दूसरी ओर मुख्यमंत्री पाकिस्तानी रक्षा विश्लेषक को अपने चंडीगढ स्थित सरकारी निवास सेक्टर दो के आवास नम्बर 44 पर दावत दे रहे है।
उन्होंने कहा है कि हाल में हिन्दू नेताओं की हत्या के मामलों में पुलिस महानिदेशक ने इसके पीछे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई को जिम्मेदार बताया है।

इस कारण काफी संभावना है कि अरूषा आलम को आईएसआई ने ही पंजाब में खुफिया स्रोत के रूप में रखा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में सोनिया गांधी ने भी पार्टी नेताओं को शराब का सेवन न करने के निर्देश दिए थे लेकिन कैप्टेन अमरिदर सिंह इस निर्देश की अवहेलना कर रहे है।

अरूषा आलम ने क्षेत्रीय विदेशी नागरिक पंजीयन कार्यालय को भी अपने निवास के बारे में कोई सूचना नहीं दी है जो कि कानून का उल्लंघन है। खैहरा ने पत्र में कहा है कि कैप्टेन अमरिंदर सिंह को तुरन्त एक पवित्र पद से हटाया जाए।

        Loading…

Our Sponsors
Loading...