BIG BREAKING: शरद यादव बना सकते हैं नई पार्टी

373

 

नई दिल्ली। बिहार में महागठबंधन को तोड़कर बीजेपी के साथ सरकार बनाने के फैसले से नीतीश कुमार से नाराज जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव नई पार्टी बना सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक समाजवादी नेता और पूर्व विधान पार्षद विजय वर्मा ने शरद के महागठबंधन में बने रहने के लिए एक नई पार्टी बनाने के संकेत दिए हैं।

मुख्य बातें-

  1. शरद यादव ने नई पार्टी बनाने के दिए निर्देश
  2. केसी त्यागी ने अफवाह बता किया खारिज
  3. शरद यादव एनडीए सरकार में नहीं बनेंगे मंत्री

शरद यादव के करीबी माने जाने वाले विजय वर्मा ने महागठबंधन में बने रहने के लिए एक नई पार्टी बनाने के संकेत दिए हैं। उधर जदयू के महासचिव केसी त्यागी ने इसे अफवाह बताकर खारिज कर दिया है।

वहीं जदयू के प्रवक्ता अजय आलोक ने शरद यादव की नाराजगी को भी खारिज कर दिया था। द वायर के मुताबिक वर्मा ने कहा शरद यादव पुराने साथियों के संपर्क में हैं और राजनीतिक स्थिति पर विचार कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि नए दल का गठन एक विकल्प है और उस पर संजीदगी से विचार किया जा रहा है। वर्मा ने यह भी कहा कि शरद यादव ने जोर देते हुए कहा है कि वे धर्मनिरपेक्ष ताकत वाले महागठबंधन में बने रहेंगे और इसी को जेहन में रखते हुए उन्होंने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और सीपीएम नेता सीताराम येचुरी से मुलाकात की थी।

उन्होंने आगे कहा कि शरद यादव ने एनडीए सरकार में मंत्री के रुप में शामिल होने से साफ इंकार किया है। ज्ञात हो कि जुलाई में नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर महागठबंधन से संबंध तोड़ लिया था और बीजेपी के साथ शामिल होकर फिर सरकार बनाई और फिर मुख्यमंत्री बने।

 

नीतीश के इस फैसले को जदयू के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद शरद यादव ने नाराजगी व्यक्त की थी और नीतीश के बीजेपी के साथ सरकार बनाने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया था।

उन्होंने गत 31 जुलाई को संसद के बाहर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा था कि जनादेश महागठबंधन को मिला था। जदयू के दो सांसदों अली अनवर और विरेंद्र कुमार ने शरद यादव से मुलाकात की थी। दोनों ने नीतीश को बीजेपी के साथ सरकार बनाने के निर्णय का विरोध किया था।

 

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने महागठबंधन बिखराव के लिए नीतीश पर हमला करते हुए शरद से अपनी पार्टी की आगामी 27 अगस्त को पटना में आयोजित भाजपा हटाओ, देश बचाओ रैली में शामिल होने का को कहा है। साथ ही सांप्रदायिक शक्तियों को खत्म करने के लिए देश भ्रमण करने की भी अपील की है।

 

Our Sponsors
Loading...