अहंकारी राजनाथसिंह ने सेना के जवान के साथ की घटिया हरकत

366

भारतीय सेना के जवानों के लिए हर हिन्दुस्तानी के दिल में उनके लिए सम्मान भाव हमेशा रहता ही है। लेकिन कई बार यह देखने को मिलता है कि, कुछ नेता अपने अहंकार में इतने ज्यादा आगे बढ़ जाते है कि, वह देश के जवानों को भी कुछ नहीं समझते है। जो दिन-रात सीमा पर तैनात होते है और सियाचिन जैसे इलाके में भी रहकर हमारे देश की हिफाजत करते है।

भारतीय जनता पार्टी जो हर बार हर किसी मुद्दे को राष्ट्रवाद को चोला पहनाना तो खूब जानती है लेकिन देखने को यह मिलता है कि, उन्ही के बड़े नेता राजनाथसिंह जैसे जो कि, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष भी रह चुके है और अभी मौजूदा गृहमंत्री के पद पर बने हुए है। पिछली बार भी देखा गया था कि, उन्होंने अपनी ही हिफाजत के लिए तैनात एक फौजी को लातों और घूसों से पिटाई कर डाली थी।

इस बार भी वह देश के जवान के साथ घटिया हरकत के साथ पकड़े गए है, जिसके कारण वह विवादों में फंस चुके है। दरअसल गृहमंत्री राजनाथ सिंह गुजरात के भुज जिले के भारत-पाक सीमा पर दौरे के लिए गए थे, लेकिन वहां पर जाकर उन्होंने देश के जवान से अपने जूतें के फीते बंधवाते हुए भी जरा भी शर्म नहीं आई। जनता के सामने देशभक्ति के नारे लगाने वाले, लेकिन जब बात भारतीय सेना को सम्मान देने की बात आती है तो उन्ही के नेता सेना के जवानों के साथ इस तरह व्यवहार करते हुए पकड़ें जाते है।

भारतीय सेना के सोल्जर सीमा पर दुश्मनों और कठिन परिस्थितियों से निपटने के लिए तैनात किये जाते हैं। लेकिन कुछ राजनेता जैसे की राजनाथ सिंह अपनी पॉवर का गलत तरीके से इस्तेमाल करके भारतीय सेना के जवानों को ही शर्मिंदा कर देते हैं। इस विडियो में आप देख सकते है कि, बीजेपी के गृहमंत्री राजनाथ सिंह कुर्सी पर खुद तो आराम से बैठे हुए है लेकिन राजनाथ सिंह के सामने जवान घुटनों के बल बैठकर उनके जूते के फीते बाँधने में लगे हुए है।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह कच्छ जिले में दो दिन के दौरे पर निकले हुए थे। इस दौरान उन्होंने देश के जवानों से भी मुलाकात की। लेकिन राजनाथ सिंह खुद आराम से कुर्सी पर बैठकर जवानों से अपनी खिदमत करवाने में व्यस्त है। कई बार यह देखने को मिला है कि, भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का अहंकार इस तरह सोशल मीडिया में कई बार देखने को मिलता है। लेकिन राजनाथ सिंह जैसे नेताओं की देश के सेना के जवानों की इस तरह की हरकत एक शर्म की बात है।

Our Sponsors
Loading...