गोरखपुर: ऑक्सीजन की कमी से 63 की मौत पर सहवाग का ट्वीट देख भड़के लोग, कहा- शर्म करो

4834

गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के कारण पांच दिनों में अब तक 63 बच्चों की मौत हो चुकी है। इस पर भारतीय पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने अपने ट्विटर हैंडल पर कुछ ऐसा लिख दिया कि लोगों ने उनकी जमकर खिंचाई कर डाली। सहवाग ने ट्वीट किया गोरखपुर में मामूस की जिंदगियों के जाने का बहुत गहरा दुख है।

 

अब तक 50 हजार से ज्यादा बच्चे इंसेफेलिटीस नाम की बीमारी के कारण अपनी जिंदगी खो चुके हैं। इसके साथ ही सहवाग ने एक और ट्वीट कर लिखा पहला मामला 1978 में सामने आया था, इसी साल मेरा जन्म हुआ था। मासूमों की जिंदगी बचाने के लिए हम अभी तक इस बीमारी की जड़ नहीं खोज़ पाए हैं। दिल टूट गया।

सहवाग के इस ट्वीट पर कई लोग उनकी खिंचाई कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने अपने ट्वीट में सूबे की बीजेपी सरकार का नाम नहीं लिया। इसके साथ ही लोगों ने सहवाग को शर्म करने की नसीहत भी दे डाली। एक ने लिखा मच्छरों के कारण हुई है बच्चों को मौत योगी के कारण नहीं… शर्म करो।

 

एक ने लिखा कि आपने अपने ट्वीट में बीजेपी सरकार का नाम इस घटना के लिए क्यों नहीं लिखा.. जैसा कि अपको हर चीज में षडयंत्र दिखाई देता है.. अगर गैर बीजेपी सरकार में कुछ होता है तो आप बहुत जल्द ट्वीट करते हैं। एक ने लिखा कि यह मौत किसी बीमारी के कारण नहीं हुई हैं.. ये मौत ऑक्सीजन सप्लाई नहीं मिलने के कारण हुई हैं सर। एक ने लिखा दिखाई नहीं देता या सच देखने की आदत नहीं है, पूरे देश को पता है बच्चे ऑक्सीजन की कमी के कारण मरे हैं, दलाली बंद करो।

 

 

 

 

 

 

 

 

मुख्यमंत्री योगी के गढ़ गोरखपुर में आज (12 अगस्त को) भी 11 साल के एक बच्चे ने दम तोड़ दिया। वह भी इन्सेफ्लाइटिस से पीड़ित था। इस बीच ऑक्सीजन सप्लाई बाधित होने के बारे में अधिकारियों के बीच पत्राचार की एक कॉपी सामने आई है। एचटी मीडिया के मुताबिक ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी पुष्पा सेल्स का अस्पताल पर कुल बकाया 68,58, 596 रुपये था। पैसे का भुगतान नहीं होने पर कंपनी ने सप्लाई रोकने की चेतावनी दी थी। बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज अस्पताल में  बच्चों की मौत की सरकार ने मेजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। इस बीच, अस्पताल को छावनी में तब्दील कर दिया गया है, वहां किसी तरह की अनोहनी की आशंका को देखते हुए भारी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है।

Our Sponsors
Loading...