बंगाल हिंसा: दंगा भडकाने के आरोप में संघ विचारक राकेश सिन्हा पर FIR दर्ज, गैर जमानती वारंट जारी

363

पश्चिम बंगाल के बशीरहाट में हिंसा को लेकर भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) नेताओं के बाद अब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से संबंधित नेताओं की मुश्किलें बढ़नी शुरू हो गई हैं। जी हां, हिंसक घटनाओं को लेकर फर्जी तस्वीर शेयर करने के मामले में बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के बाद अब संघ विचारक राकेश सिन्हा के खिलाफ गैर जमानती धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

अमर उजाला कि रिपोर्ट के मुताबिक, सिन्हा पर शांति भंग करने और दंगा भड​काने के आरोप में उनके खिलाफ पश्चिम बंगाल की पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर गैर जमानती वारंट जारी किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, संघ विचारक के खिलाफ कलकत्ता के सेक्शपीयर सरानी थाने में 12 जुलाई को भारतीय अचार संहिता की धारा 153 ए1 (ए)(बी), 505(1)(बी), 295ए, 120बी के तहत मामला दर्ज किया गया है।

 

रिपोर्ट के अनुसार, इन धाराओं के जरिए सिन्हा के खिलाफ राज्य में दंगा भडकाने, लोगों की भावनाओं को आहत करने और भविष्य में उनके बयानों के जरिए हिंसा भडकने की आशंका जताई गई है। साथ ही FIR में यह भी आरोप है कि सिन्हा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर ऐसे फोटो और व्यक्तव्य डाले हैं। जिससे राज्य की शांति व्यवस्था भंग हुई है।

इस मामले में अखबार से बातचीत में राकेश सिन्हा ने बताया कि मुझे इस बात की जानकारी ही नहीं है कि कैसे मैंने पश्चिम बंगाल की कानून व्यवस्था को अशांत कर दिया। सिन्हा का कहना है कि वे लंबे समय से इधर बंगाल गए भी नहीं है। इसके बावजूद उसके उनके खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई की है।

संघ विचारक ने इस FIR को बदले की राजनीति से प्रेरित कदम बताया है। उन्होंने कहा कि मेरे ट्विटर और फेसबुक पेज पर दंगा भडकाने वाले बातों के लिखे जाने का एफआईआर में जिक्र है। जबकि मैंने अपने सोशल मीडिया साईट पर कोई विवादित फोटो डाली ही नहीं है। सिन्हा ने बताया कि वे गैर-जमानती वारंट के खिलाफ अग्रिम जमानत लेने के लिए कानूनी राय ले रहे हैं।

नूपुर शर्मा पर गैर जमानती धाराओं के तहत मामला दर्ज

बता दें कि राकेश सिन्हा से पहले पश्चिम बंगाल के बशीरहाट में हिंसक घटनाओं को लेकर बीजेपी प्रवक्ता के खिलाफ भी मामला दर्ज हो चुका है। दरअसल, फर्जी तस्वीर शेयर करने के मामले में बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के खिलाफ दो अलग-अलग शिकायत दर्ज की गई है। खास बात यह है कि शर्मा के खिलाफ यह शिकायतें गैरजमानती धाराओं के तहत दर्ज हुई हैं।

इसके अलावा फर्जी न्यूज शेयर करने के आरोप में बीजेपी आईटी सेल के सचिव को गिरफ्तार किया गया है। बंगाल पुलिस ने बीजेपी सचिव को फर्जी न्यूज शेयर कर राज्य में सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ावा देने के आरोप में 12 जुलाई को गिरफ्तार किया। सीआईडी ने बताया कि पश्चिम बंगाल स्थित आसनसोल के बीजेपी आईटी सेल के सचिव तरूण सेनगुप्ता को बंगाल हिंसा मामले में फर्जी न्यूज शेयर करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

Our Sponsors
Loading...