PM मोदी ट्रिपल तलाक पर मुस्लिम बहनों को बधाई देते हैं लेकिन बलात्कारी बाबा से लड़ने वाली बेटियों को नहीं, ऐसा क्यों : अलका लांबा

550

आज भी हमारे देश में नारीवाद का क्या हाल है यह वर्तमान में चल रहा बाबा राम रहीम का मामला हमें बहुत कुछ सिखा सकता है|

बाबा राम रहीम को सीबीआई कोर्ट द्वारा बलात्कार के मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद उनके भक्त हिंसा पर उतारू हो गए| जिसकी काफी राजनेताओं ने निंदा की और लम्बे इन्तज़ार के बाद ट्विटर पर सक्रिय रहने वाले हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी निंदा का ट्वीट आ ही गया|

लेकिन इस पूरे मामले में जिन 2 लड़कियों ने 15 साल तक अपने भाई की हत्या के बाद भी डर के साए में जिस तरह लड़ाई लड़ी| उनकों हमारे नए-नए तथाकथित महिला सशक्तिकरण की बात करने वाले भाजपा नेताओं ने बधाई नहीं दी| कोर्ट द्वारा दोषी ठहराए जाने पर भी किसी ने बाबा की आलोचना नहीं की|

ये मामला दो चीज़े हमारे सामने लाता है| पहली, नारीवाद के झूठे राजनेताओं के नारे और दूसरी मौकापरस्त राजनीति में नारीवाद का प्रयोग| हमारे राजनेताओं की यह असलियत सामने आती है कि वो भाषण में कितना ही ‘बेटी बचाओं और बेटी पढ़ाओ’ का नारा दे लेकिन आज भी वो तुष्टिकरण की राजनीति ही करते हैं| अगर ये तुष्टिकरण की राजनीति ना होती तो हमारे नेता बाबा के भक्तों का वोट खिसकने के डर के बारे में ना सोचकर उन दो लड़कियों को बधाई ज़रूर देते|

इसमें कोई दो-राय नहीं है कि तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनाया गया फैसला एक लोकतान्त्रिक और उदार फैसला है| लेकिन जिन लोगों ने तीन तलाक के मामले में खुद को महिलाओं का मसीहा बनाके पेश किया आज वो ही बाबा राम रहीम के मामले में बलात्कार की पीड़ित लड़कियों के समर्थन में एक शब्द नहीं बोल रहे हैं| ये चीज़ इन नेताओं की मौकापरस्ती को उजागर करती है|

सिर्फ़ हिंसा की निंदा करना पीड़ित लड़कियों का समर्थन नहीं है| समर्थन तब होता जब नेता बाबा को कड़ी से कड़ी सज़ा दिलाने के लिए आवाज़ उठाते और उन पीड़ित लड़कियों के साथ खड़े हुए नज़र आते| लेकिन प्रधानमंत्री से लेकर हरयाणा के मुख्मंत्री तक इस मामले में चुप नज़र आए|

इस बात दोहरे रवैय्ये को लेकर अब सवाल उठ रहे हैं और ये ही सवाल आप नेता अलका लांबा ने भी सोशल मीडिया पर उठाया|

 

 

 

 

अलका लाम्बा ने लिखा कि, प्रधानमंत्री मोदी ने सिन्धु (बैडमिन्टन खिलाड़ी) को जीत पर बधाई दी, मुस्लिम बहनों को तीन तलाक पर जीत की बधाई दी| क्या बलात्कारी गुरमीत राम रहीम को सज़ा मिलने पर दोनों बेटियों (पीड़ितों) को बधाई दी?

Our Sponsors
Loading...