मौत के खेल Blue Whale की मास्टरमाइंड है 17 साल की ये लड़की, अब हुई गिरफ्तार

628

नई दिल्ली। Blue Whale नाम के ऑनलाइन खूनी गेम ने भारत में भी कई मासूमों की जान ले ली है। मौते के इस 50 दिनों के खेल का अंत खेलने वाली की जान लेकर होता है। इस दुनिया में अब तक 250 लोगों की जान ले चुके इस जानलेवा खेल ने एक बार फिर से एक बच्चे की जान ले ली। तमिलनाडु के मदुरई में ब्लू व्हेल की वजह से 19 साल के लड़के की जान चली गई। ये पहला मामला नहीं है, इससे पहले राजधानी दिल्ली, कोलकाता, लखनऊ में भी इस खूनी खेल की वजह से जानें जा चुकी है, लेकिन अब इस खेल के पीछे के मास्टरमाइंड का पर्दाफाश हो चुका है। Blue Whale के पीछे के मास्टरमाइंड का खुलासा हो चुका है, जो डर दिखाकर लोगों को अपनी जान लेने के लिए मजबूर कर देती थी।

  •  ब्लू व्हेल के पीछे का मास्टरमाइंड

    ब्लू व्हेल के पीछे का मास्टरमाइंड

    रशियन पुलिस के मुताबिक 17 साल की ये लड़की ब्लू व्हेल ऑनलाइन गेम के एडमिस्ट्रेटिव है। वो अपनी धमकियों और डर दिखाकर लोगों को अपनी जान लेने पर मजबूर कर देती थी। आरोपी लड़की गेम बीच में छोड़ने वालों को जान से मारने की धमकी और उनके परिवार की हत्या करने जैसी धमकियां देकर मासूमों को खुदकुशी करने के लिए प्रेरित करती थी।

  •  17 साल की लड़की ने ली 250 जिंदगी

    17 साल की लड़की ने ली 250 जिंदगी

    रशियन पुलिस ने एक 17 साल की लड़की को गिरफ्तार किया है। इस लड़की के कमरे से पुलिस को ऐसी संदिग्ध चीजें मिली है, जिसे देखकर पुलिस अधिकारी भी चौंक गए। पुलिस का दावा है कि ये 17 साल की लड़की ही ब्लू व्हेल ऑनलाइन गेम के पीछे की मास्टमाइंड है।

    •  कमरे से मिले आपत्तिजनक चीजें

      कमरे से मिले आपत्तिजनक चीजें

      पुलिस ने जब उसके कमरे की तलाशी ली तो सन्न रह गई। उसके कमरे से ऐसी-ऐसी चीजें मिली की वो हैरान रह गए। हॉरर किताबें, डरावनी पेटिंग, आत्महत्या के लिए प्रेरित करने वाली तस्वीरें, डीवीडी और विवादित नॉवेल। पुलिस ने छापेमारी के दौरान आरोपी लड़की के कमरे की फुटेज को भी रीलीज कर दिया है। पुलिस को उसके कमरे से रूसी मनोविज्ञान छात्र फिलिप ब्यूडेइकिन के चित्र और किताबें भी मिली। आपको बता दें कि ब्यूडेइकिन को उसकी विवादित चुनौतियों की वजह से 3 साल की कैद की सजा सुनाई गई थी।

    •  खुद भी खेला था मौत का खेल

      खुद भी खेला था मौत का खेल

      पुलिस के मुताबिक ब्लू व्हेल की मास्टरमाइंड लड़की ने पहले खुद इस खेल को खेला। लेकिन वो इस खेल को पूरी नहीं कर पाई, जिसके बाद वो खेल की एडमिस्ट्रेटिव बन गई और लोगों को डरा कर, धमका कर उन्हें खुद अपनी जान लेने के लिए मजबूर करने लगी।

      •  लोगों को भेजती थी टास्क

        लोगों को भेजती थी टास्क

        पुलिस के मुताबिक आरोपी लगड़ी गेम खेलने वालों को अलग-अलग टास्क भेजती थी। उसके ग्रुप में कई दर्जन लोग थे। जो गेम खेलने वाले लोगों को ब्लैकमेल करते थे, उन्हें धमकाते थे और डराकर उस टास्क को पूरा करने के लिए मजबूर करते थे।

      •  खतरनाक खेल

        खतरनाक खेल

        ब्ले व्हेल गेम 2013 में सबसे पहले रूस में सामने आया। करीब 4 साल में इस खेल ने दुनियाभर में 250 से ज्यादा लोगों की जान ले ली। आपको बता दें कि सिर्फ रूस में 130 से ज्यादा मौतें हुईं। इसके अलावा अमेरिका, भारत पाकिस्तान समेत कुल 19 देशों में इस खेल की वजह से खुदकुशी हुई है।

Our Sponsors
Loading...