“IPL की तर्ज पर हमारी भी लगे बोली”. पत्रकार संघ ने राजनीतिक पार्टियों से की मांग।

79

दिल्ली : पिछले दिनों IPL सीजन 11 की बोली लगाई गई. जिसमें देश दुनिया के तमाम नए और नामी गिरामी खिलाड़ियों की बोली लगी. करोड़ों में खिलाड़ी बिके।

खिलाड़ियों को खुलेआम “बिकता” देख देश की मीडिया आग बबूला हो गई. मीडिया ठीक वैसे ही जन भुन गई जैसे तेरे नाम में अमृता राव को रवि किशन की हीरो पुक्क पर बैठा देखके अपने राधे भैया जल गए थे.. “इसपे सिर्फ मेरा हक़ है” टाइप फीलिंग से!






बहरहाल इसी खुलेआम खरीद फरोख्त को मद्देनजर रखते हुए कल देर रात पत्रकार संघ ने एक आपातकाल मीटिंग की, जिसमें तमाम नामी और ‘गिरा'(मी) पत्रकार शामिल हुए. लगभग डेढ़ घण्टे गम्भीर चर्चा करने के बाद पत्रकार संघ इस नतीजे पर पहुंचा कि “जब हम भी बिकते हैं तो खुकेआम क्यों नहीं? इस तरह से अंडर टेबल बिकने पर हमारा ही मार्केट रेट डाउन हो रहा है. और जिसका फायदा पॉलिटिकल पार्टियां उठा रही हैं. इसलिए अब से हर साल हमारी भी बोली लगाई जाए. अब हमें सस्ते दामों में बिकना मंजूर नहीं है”

(कम दाम में खरीदे जाने पर भड़का एक पत्रकार. की मार पीट )

पत्रकार संघ के इस कड़े फैसले का सभी पत्रकारों ने एक मत से निर्विरोध समर्थन किया. जिसके बाद पत्रकार संघ ने बाकायदा सभी पार्टियों को पत्र जारी कर के अपनी इस मांग से अवगत करा दिया है. और साथ ही ये भी वार्निंग दी है कि अगर जल्द से जल्द हमारी भी बिकवाली शुरू नहीं की गई तो हम तुम सब पार्टियों के काले कारनामे जनता से ‘छिपाना’ बन्द कर देंगे. इसके बाद तुम जानो तुम्हारा काम जाने।

पत्रकार संघ के बाल हठ को मानते हुए सभी पार्टियां ‘बोली’ के लिए राजी हो गई है. और उनका कहना है कि “ये एकदम सही पहल है. इससे सबका (जनता लोग दूर रहें) फायदा है. खुलेआम बुकिंग के बाद हमें भी कन्फर्म रहेगा कि कौन प्लेयर किस टीम से खेल रहा है. किसे इंटरव्यू देना है किसे नहीं. वरना बड़ी कन्फ्यूजन रहती थी. क्या पता इंटरव्युवर कोई सीरियस सवाल न पूछ ले”

(अपना रेट बताता एक कथित राष्ट्रवादी पत्रकार)

पत्रकार संघ की मांग पर सभी पार्टियों के राजी होने के बाद अब सट्टा बाजार गर्म हो गया है. कयाश लगाए जाने लगे हैं कि कौन किस पार्टी द्वारा खरीदा जाएगा। अगर आपके पास भी कोई आइडिया हो कि किसे कौन पार्टी खरीदेगी तो कमेंट बॉक्स में चिपका दें!

        Loading…

Our Sponsors
Loading...