गौरक्षा के बहाने फिर से एक मासूम के साथ की गई बर्बरता

3999

देशभर में गाय की नाम पर हो रहा आतंक थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। आये दिन कोई न कोई गौरक्षा की आड़ में दिल दहला देने वाली घटनाएँ सामने आती ही रहती हैं। लेकिन इसके बावजूद भी मोदी सरकार इन गौरक्षकों के गुंडों पर कोई सख्त कार्रवाई नहीं कर रही है। गौरक्षा की आड़ में अल्पसंख्यकों लोगों को इसका ज्यादा शिकार बनाया जा रहा है। बिहार से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। दरअसल बिहार के सहरसा थाना में एक नया ही मामला सामने आया है।

जहाँ पर एक ड्राईवर के गाड़ी का हॉर्न बजाने पर गाय माता बिदकर भाग गई और इस मामले को देखते हुए गाड़ी के चालक को बहुत ही बुरी तरह पीटा गया। यह मामला बिहार के सहरसा थाना क्षेत्र मैना गाँव का है, जहाँ पर पिकअप गाड़ी का हॉर्न बजाने पर गाय माता डर कर भाग गई। इसके बाद गाय मालिक ने आव देखा न ताव ड्राईवर को बुरी तरह डंडो से पीटकर उसकी बाई आँख ही फोड़ डाली। इसके अलावा ड्राईवर की जेब में जो दस हजार रूपये की जो राशी थी उसे भी छीन लिया गया।

गाय के मालिक ने बताया कि, ड्राईवर ने उसकी गाय को हॉर्न बजाकर डराया तो इसीलिए उसने ड्राईवर की पिटाई कर डाली। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ड्राईवर का नाम गणेश मंडल है जो अपनी पिकअप गाड़ी से माल-ढुलाई का काम करता है। गणेश मंडल बिहार के भागलपुर जिले के बौचाही गाँव का रहने वाला है। ड्राईवर बिहार के सहरसा जिले से होकर अपने गाँव लौट रहा था, लेकिन तभी अचानक से उसकी गाड़ी के सामने गाय आ गई। इसलिए उसको हटाने के लिए गणेश ने अपनी गाड़ी का हॉर्न बजाय तो गाय डरकर भाग गई।

उसके बाद गाय के मालिक ने गणेश पर बुरी तरह से हमला कर दिया और डंडे से उसकी आँख भी फोड़ डाली। इसके बाद गणेश को इलाज के लिए सहरसा सदर अस्पताल में उसका भरती करवाया गया, जहाँ पर उसकी हालत अभी गंभीर बताई जा रही है। इस बार फिर से गाय को लेकर हिंसा का मामला सामने आया है। इस घटना को देखते हुए अब सड़कों पर साइन बोर्ड लगने ही चाहिए कि, ‘गाय माता सड़क पर टहल रही है इसलिए हॉर्न बजाने की गुस्ताखी न करें।’ अब तो देश में गाय के नाम पर हद से ज्यादा गुंडागर्दी के मामले बढ़ चुके हैं और इसका जवाब मोदी सरकार को देना ही होगा।

Our Sponsors
Loading...