मध्यप्रदेश की धरती फिर हुई शर्मसार, मंदसौर में खूनी धब्बों के बाद किसानों को नंगा कर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया

147

एक बार फिर पुलिस ने टीकमगढ़ में किसानों पर लाठियां बरसाई।

जिले को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग को लेकर किसान कलेक्टोरेट पहुंचे। लेकिन उनकी मांग को न मानकर किसानों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया। आंसू गैस के गोले छोड़े और पानी की बौछार की गई। उसके बाद किसानों के कपड़े उतरवाकर जेल में बंदकर पीटा गया और कथित तौर पर पैसे छीने गए।

किसान कलेक्टर को ज्ञापन देने की बात पर अड़े थे, लेकिन कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल 45 मिनट तक अपने दफ्तर ने नीचे नहीं उतरे। इस दौरान हालात लगातार बिगड़ते चले गए। देखते ही देखते पुलिस ने किसानों पर लाठीचार्ज शुरू कर दिया। हादसे में करीब तीन दर्जन से ज़्यादा किसान और पुलिसकर्मी घायल हो गए।

किसानों पर लाठियां चलवाकर शिवराज सरकार फिर से लोगों के निशाने पर है , इस बर्बरता के खिलाफ लोग सोशल मीडिया पर लिख रहे हैं साथ ही भाजपा सरकार को किसान विरोधी बताया जा रहा है।

Our Sponsors
Loading...