यू.एन. में पाकिस्तान को निचा दिखाने के लिए भाजपा ने लिया कांग्रेस के 70 साल के कामो का सहारा

267

शनिवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 72वें सत्र में पाकिस्तान को लताड़ लगाते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भारत की उपलब्धियों को गिनाया। उन्होंने कहा कि भारत की पहचान आईटी शक्ति के रूप में है। अपने संबोधन में सुषमा ने कहा कि भारत ने आईआईटी, एम्स, आईआईएम बनाए, डॉक्टर, इंजीनियर और वैज्ञानिक बनाए।

उन्होंने कहा, ‘‘भारत की आजादी के बाद पिछले 70 वर्षों में कई पार्टियों की सरकारें रही हैं और हमने लोकतंत्र को बनाए रखा और प्रगति की। हर सरकार ने भारत के विकास के लिए अपना योगदान दिया।’’

विदेश मंत्री के इस जोरदार भाषण की चारों तरफ तारीफे की जाने लगी। यह मामला इसलिए ज्यादा सुर्खियों में रहा क्योंकि वह पाकिस्तान को लताड़ लगाते हुए यह सब बता रही थी। लेकिन उनकी इन सारी उपलब्ध्यिों पर समीक्षकों ने अलग तरह की राय बनाई। सोशल मीडिया पर गिनाया जाने लगा कि सुषमा स्वराज ने जो बातें बताई वो सारी की सारी कांग्रेस के शासन काल की उपलब्ध्यिां थी। जबकि पीएम मोदी के पिछले तीन साल बेहद उथल-पुथल से भरे हुए निकले।

पीएम मोदी के पिछले तीन सालों के परिणामस्वरूप आज देश की विकास दर बहुत नीचे गिर गई। नोटबंदी ने देश के आर्थिक ढांचे को तहस-नहस कर दिया और उसके बाद जीएसटी की जबरदस्त मार। जबकि दूसरी तरफ देशभर में गायों के नाम पर लोगों की हत्या, सरकार की इतिहास बदलने की लालसा और जबदस्ती की देशभक्ति के नाम पर गुंडागर्दी की घटनाओं का जिक्र मोदी सरकार से जोड़कर देखा जाता है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के खुद कांगे्रस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर उनका शुक्रिया किया कि आपने हमारे शासन के दौरान किए गए कामों का उल्लेख किया। राहुल गांधी ट्वीट कर लिखा, ”सुषमा जी, आखिर में कांग्रेस सरकारों के महान विजन और IITs, IIMs की विरासत को स्‍वीकार करने के लिए धन्‍यवाद।” इसके अलावा सोशल मीडिया पर लोगों ने अलग-अलग तरह से अपने विचार प्रकट करते हुए सुषमा स्वराज के भाषण पर प्रतिक्रिया दी।

Our Sponsors
Loading...