बीजेपी IT सेल के कर्मचारी ने दहेज न मिलने पर पत्नी को फांसी पर लटकाया, बेरहमी से मारता-पीटता था

466

सत्ता के नशे में चूर भाजपा के लोग लगातार अपराधों को अंजाम दे रहे हैं। महिला सशक्तिकरण की बात करने वाले उनकी जान के दुश्मन बन गए हैं।

उत्तरप्रदेश के कंकरखेड़ा में दहेज की मांग को लेकर शालिनी त्यागी की हत्या के मामले में पुलिस ने भाजपा के आईटी विभाग के विभोर त्यागी को गिरफ्तार किया है।

विभोर त्यागी ने जनवरी 2016 में शालिनी से शादी की थी। आरोप है कि कुछ समय बाद ही वो शालिनी के परिवार से पैसों की मांग करने लगा। शालिनी के घरवालों ने कुछ मांगें पूरी भी की लेकिन जब बाद में वो अन्य मांगों को पूरा करने में असमर्थ रहे तो विभोर ने शालिनी को मानसिक और शारीरिक प्रताड़ना देना शुरू कर दिया। कई बार विभोर ने ससुरालवालों को भाजपा के नेताओं की भी धमकी दी।

इंस्पेक्टर सचिन मलिक के अनुसार इस मामले में शालिनी के पिता अनिल त्यागी निवासी गांव रोशनपुर प्रताप थाना कोतवाली बिजनौर ने विभोर समेत ससुराल पक्ष के सदस्यों अंकुर, जगदीश, विनोद, सुमन, गीता, नीरा व पूनम के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज कराया था।

इंस्पेक्टर ने बताया कि विभोर भाजपा के आईटी विभाग से जुड़ा हुआ था। जिसके चलते भाजपाइयों ने आरोपी को छोड़ने के लिए दबाव बनाया। लेकिन मुकदमा दर्ज होने पर आरोपी को जेल भेज दिया गया।

Our Sponsors
Loading...