मोदी का ऐसा कड़वा सच जिसे सुन कर आप भी रह जाएंगे दंग, यह किया घपला

614

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बड़े जोर शोर से मेक इन इंडिया अभियान को चला रहे थे लेकिन उसका असर दिखाई नही दे रहा है उलटे उनके इस ड्रीप प्रोजेक्ट को धक्का लगने की खबर आ रही है। आपको बता दें कि मोदी लोगों से कहा था कि मेक इन इंडिया जैसे प्रोजेक्ट से देश का विकास होगा और साथ ही लोगों को काम भी मिलेगा लेकिन जिस तरह से ख़बरें आ रही हाँ उसको देखते हुए मोदी और उनके जुझारू भक्तों को झटका लगने वाला है।

 

 

हालाँकि देश के निर्माण में सबका सहयोग है लेकिन जिस तरीके से लोग को वायदे देकर और सपने दिखाकर मोदी ने बहकाया है उसे देखते हुए जमीन पर एक भी सच दिखाई नही दे रहा है। आपको बता दें कि मेक इन इंडिया के चलते देश में बनी आकाश मिसाइल, जोकि जमीन से हवा में मार करने माहिर मानी जा रही थी , वो वाली मिसाइल एक तिहाई बुनियादी परीक्षणों में फेल रही है। इस बात की जानकारी कैग ने अपनी रिपोर्ट के जरिये संसद को दी।

कैग ने अपनी इस रिपोर्ट में आकाश मिसाइल को लेकर लिखा है कि मिसाइल परिक्षण के दौरान लक्ष्य से कम दूरी पर ही गिर गया। इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि उसमें आवश्यकता से कम वेलोसिटी थी। हालांकि इसके पहले ही कैग ने संसद में रिपोर्ट दिया था कि सेना के पास गोले-बारूद की भारी कमी है और ऐसे में अगर युद्ध होता भी है तो ज्यादा से ज्यादा 10 दिन ही का सामान है।

 

कैग की ये रिपोर्ट उस वक्त आई जब भारत और चीन के बीच डोकलाम को लेकर तनाव बना हुआ है और दोनो देशों की सेनाएं आमने सामने कड़ी हैं। चीन रोज धमकी दे रहा है कि वो अपनी सेना बढ़ा देगा। यहाँ आपको बता दें कि बेंगलुरु स्थित सरकारी एजेंसी भारत इलेक्ट्रॉनिक्स द्वारा आकाश मिसाइल का निर्माण किया है, जिसको बनाने में करीब 3 हजार 6 सौ करोड़ रुपये की लागत आई थी।

सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में कहा गया है कि आकाश के निर्माताओं को 3600 करोड़ रुपये अदा किए गए लेकिन छह तय स्थानों में से एक पर भी मिसाइल को इन्स्टॉल नहीं किया जा सका।

Our Sponsors
Loading...