India 

भारत बंद आंदोलन के बाद बीजेपी सरकारें पुलिस की मदद से दलितों को झूठे मुकदमों में फंसा रही है – अशोक दोहरे

लखनऊ: पहले सांसद सावित्री बाई फूले, फिर छोटेलाल और अब दलित सांसद अशोक दोहरे ने राज्य की बीजेपी सरकार के खिलाफ नाराज़गी दिखाई है। यह नाराज़गी एससी एसटी एक्ट 1989 में किये परिवर्तन के खिलाफ 2 अप्रैल को हुए देश व्यापी भारत बंद आंदोलन के बाद ज्यादा देखने को मिल रही है।

dalit bjp mp savitribhai phule and chhotelal against bjp government - the dailygraph

एससी एसटी और ओबीसी वर्ग के लोगों का आरोप है कि केंद्र से लेकर राज्यों तक बीजेपी सरकार हर जगह अपनी तानाशाही सरकार चलाने पर आमादा है। उनका आरोप है कि भारत बंद आंदोलन के बाद सत्ताधारी बीजेपी सरकारें इतनी डर गई हैं कि वो दलितों को दबाने के लिए हर तरह के हथकंडे अपना रही है। लगातार एक के बाद एक बीजेपी सांसदों का इस तरह से नाराज़़ होना कहीं 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को भारी न पड़ जाये।

        Loading…

बीजेपी पार्टी से दलित सांसद अशोक दोहरे ने भी अपनी ही पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने राज्य के मुखिया सीएम योगी आदित्यनाथ के शासन से नाराज़ होकर पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी है। जिसमें उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव को बीजेपी के लिए काफी चुनौती भरा बताया है।

dalit bjp sansad against bjp government - send letter to modi

अशोक दोहरे ने अपनी शिकाती चिट्ठी में लिखा है कि भारत बंद आंदोलन के बाद से ही यूपी सहित अन्य बीजेपी शासित राज्यों में सरकारें पुलिस और अपने कार्यकर्ताओं की मदद से दलितों पर अत्याचार कर रही है। उन्हें झूठे मुकदमों में फंसा रही है। जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं। इससे दलितों में असुरक्षा की भावना बढ़ती जा रही है जिससे उनमें काफी आक्रोश है।

https://twitter.com/VijendraySingh/status/981739367273132032?s=19

        Loading…

Related posts

Leave a Comment