AAP के अरविंद केजरीवाल ने किया खुलासा, बोले मेरे पास मोदी के ख़िलाफ़ सभी सबूत हैं – विडियो

395

आम आदमी पार्टी (आप) के अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर 25 करोड़ की रिश्वत लेने का आरोप लगाया है। केजरीवाल ने कहा कि मोदी ने सहारा और बिड़ला के अलावा कई अन्य पूंजीपतियों से रिश्वत ली है, मेरे पास इसके सबूत हैं। केजरीवाल ने कहा कि मेरे पास बड़ी मात्रा में आयकर विभाग के दस्तावेज हैं, जिनसे साबित हो जाएगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश और देश के बाहर के पूंजीपतियों से रिश्वत ली है। उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता और पैसे की पार्टी है। केजरीवाल ने अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर जमकर हमला किया।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी के नाम पर इस सरकार ने आठ लाख करोड़ रुपए का बड़ा घोटाला किया है। एक लाख 14 हजार करोड़ का लोन अरबपतियों का माफ कर दिया। बैंक इससे कंगाल हो गए। अब आठ लाख करोड़ माफ करना है। इसलिए मोदी और अमित शाह ने यह साजिश रची।

आठ नवम्बर से पहले अपना अपना पैसा जमा कर लिया। अंबानी और बिड़ला को भी बता दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी हर मामले में अपना फैसला थोपने का काम करते हैं। वह न तो किसी गरीब के बारे में सोच रहे हैं और न ही किसान की बदहाली का उनको अनुमान है। वह केवल देश के बड़े उद्योगपतियों के हित में फैसला लेते हैं।

भाजपा कैश में चंदा लेती है
केजरीवाल ने कहा कि भाजपा कैश में चंदा लेती है और हमसे कहती है कि कैशलेस बनो। आगे कहा कि अभी गुजरात से महेश गिरफ्तार हुआ, 13 हजार करोड़ उसके खाते में थे। वह कह रहा था इनकम टैक्स वालों को बताऊंगा। लेकिन एक महीने बाद भी इनकम टैक्स वाले पूछ नहीं पाए।

उसमें अरबपतियों का पैसा है, लेकिन वह मोदी के दोस्त हैं। उन्होंने कहा कि मोदी की नीयत खराब है। माल्या दारू बनाता है और नंगी-नंगी लड़कियों के साथ फोटो खींचता है फिर भी पिछले हफ्ते मोदी ने विजय माल्या के 12 सौ करोड़ रुपए माफ कर दिए। शर्म करो, गरीब आदमी बैंक में लाइन लग कर पैसा जमा कर रहा है।

केजरीवाल ने कहा कि मोदी ने हम लोगों को लाइन में लगा दिया और खुद रिश्वत खा रहे हैं। नोटबंदी की आड़ में वह अपने अमीर दोस्तों को फायदा पहुंचा रहे हैं। केजरीवाल ने आगे कहा कि मोदी के इस फैसले से देश गरीब हो गया और काले धन वालों का धन बढ़ता जा रहा है।

केजरीवाल ने कहा कि इंदिरा ने नसबंदी अभियान चलाया था तब उन्हें जनता ने नकार दिया था। अब नोट बंदी हुई है। उप्र में चुनाव आ रहा है। भाजपा किसी नंबर पर नहीं रहेगी। लोग कसमें खा रहे हैं कुछ भी हो वोट नहीं देंगे।

Our Sponsors
Loading...