हार्दिक की जनसभा बढ़ा रहीं भाजपा हाईकमान की टेंशन, इंटरव्यू के बीच से उठ गए अमित शाह

654


नई दिल्ली। गुजरात चुनावों में युवाओं की तिकड़ी और कांग्रेस मिलकर भाजपा को कड़ी चुनौती दे रहे हैं। खुद प्रधानमंत्री के घर में इस चुनौती से भाजपा हाईकमान भी परेशान है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह तो इतने परेशान नजर आए कि अहमदाबाद के पार्टी कार्यालय से इंटरव्यू बीच में ही छोड़कर चले गए।

द् टेलीग्राफ के अनुसार शनिवार को दोपहर से इंटरव्यू दे रहे अमित शाह को एक इंटरव्यू के दौरान इतना गुस्सा आ गया कि वे बीच में ही इंटरव्यू छोड़कर चले गए। अहमदाबाद बीजेपी के कार्यालय के बाहर ऐसी चर्चाएं हो रही थीं कि अमित शाह का मूड बहुत खराब है। इसी दौरान उनका बीच इंटरव्यू से जाना गुजरात में भाजपा की हालत बयां कर रहा है।

आपको बता दें कि भाजपा अध्यक्ष और अन्य नेता काफी समय से गुजरात में 150 सीटें जीतने का दावा कर रहे हैं। लेकिन जमीनी हालात कुछ और ही कहानी कह रहे हैं। पिछले दिनों भाजपा के स्टार प्रचारक ही नहीं बल्कि खुद प्रधानमंत्री की रैली में भी अपेक्षित भीड़ नहीं जुट पा रही है। ऐसे में अमित शाह की टेंशन बढ़ना लाजमी है।




भाजपा को सबसे बड़ी टेंशन हार्दिक पटेल की रैलियों में जुट रही भीड़ से है। हार्दिक लगातार जनसभाएं कर रहे हैं, उनको अपार जनसमर्थन मिल रहा है। इसी वजह से भाजपा हाईकमान की टेंशन बढ़ रही है।

भाजपा कार्यकर्ताओं पर भी गुजरात जीतने के लिए काफी प्रेशर है। अमित शाह उनसे कह चुके हैं कि ”सिर नहीं झुकना चाहिए” (पीएम नरेंद्र मोदी का)। टेलीग्राफ का कहना है कि मोदी की रैलियों से पार्टी को कोई प्रतिक्रिया मिलती दिखाई नहीं दे रही है। वहीं अमित शाह बैकरूम मैनेजमेंट पर अपना ध्यान अधिक केंद्रित कर रहे हैं।

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल द्वारा किए गए आंदोलन से बीजेपी सकते में आ गई है। अपनी तरफ लोगों की भारी भीड़ इकट्ठा जुटाने में लगे हार्दिक पटेल ने सार्वजनिक तौर पर शाह को चुनौती देते हुए उन्हें जनरल डायर बताया, जिसने जलियावाला बाघ में हुई गोलीबारी के निर्देश दिए थे। पाटीदार आंदोलन पर बात करते हुए अमित शाह ने कहा आरक्षण के लिए पाटीदार आंदोलन केवल भ्रम पैदा कर रहा है। वहीं शाह ने हार्दिक पटेल पर कोई भी कमेंट करने से इनकार कर दिया।

        Loading…

Our Sponsors
Loading...