सज़ा के बाद लालू ने बोला हमला-“भाजपाईयों सबको नीतीश समझा है का?”

432

पटना: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को आज चारा घोटाले से जुड़े एक मामले में सीबीआई अदालत ने सज़ा की मियाद सुनायी. उन्हें साढ़े तीन साल की सज़ा हुई है. इसके साथ उन्हें पाँच लाख का जुर्माना भी चुकाना होगा. अदालत के इस फ़ैसले के बाद उनके ट्विटर अकाउंट पर इसको लेकर प्रतिक्रिया देखने को मिली है.

लालू ने साफ़ कहा कि वो ख़ुशी ख़ुशी सोशल जस्टिस, भाईचारे और बराबरी के लिए मर जायेंगे लेकिन भाजपा से समझौता नहीं करेंगे. उन्होने इसके बाद अपने समर्थकों और सोशल जस्टिस के पैरोकारों के नाम एक ख़त भी लिखा. उन्होंने इसके बाद एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा कि भाजपाई मन्त्र चलाते हैं कि अगर हमारे साथ नहीं आये तो आपको बर्बाद कर देंगे.



उन्होंने कहा कि वो भाजपा के साथ जाने से बेहतर मरना पसंद करेंगे. उन्होंने कहा,”झाड़-फूँक व जादू-टोने से ईमानदारी साबित करने वाले भाजपाई मंत्र “हमारे साथ आइये नहीं तो आपको बर्बाद कर देंगे” को मानने की बजाय मैं सामाजिक न्याय, समानता और समरसता के लिए खुशी-खुशी लड़ते हुए मरना पसंद करूंगा।..सबको नीतीश समझा है का??”

लालू ने अपने समर्थकों और सामाजिक न्याय के पैरोकार लोगों के लिए एक ख़त भी लिखा है. इसमें उन्होंने बताया है कि बचपन से ही उनका जीवन कष्टदायी रहा है.लालू ने कहा,”मुझे वो सारे क्षण याद आ रहे हैं जब देश में गरीब पिछड़े शोषित और वंचित लोगों की लड़ाई लड़ना कितना कठिन था। वो ताकतें जो सैकड़ों साल से इन्हें शोषित करती चली आ रही थी वो कभी नहीं चाहते थे कि वंचित वर्ग के हिस्से का सूरज भी कभी जगमगाए” लालू ने समर्थकों से कहा,”मैं सिर्फ हाथ जोड़कर आप सबों से विनती करता हूँ कि आप हताश और निराश ना हों… आप रोये नहीं”

        Loading…

Our Sponsors
Loading...