शिवराज शासन में हरतरफ गुस्सा, महिला शिक्षकों ने सड़क पर बाल मुंडवाए, कहा- हमारी फिक्र नहीं है इनको

225

मध्य प्रदेश में अध्यापकों ने शिवराज सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। राजधानी भोपाल में अध्यापक अधिकार यात्रा में शिक्षक और शिक्षिकाओं दोनों ने इसके विरोध में अपने सर के बाल मुंडवा दिए। साथ ही कहा जब तक उन्हें समान वेतन नहीं मिलेगा वो सरकार के खिलाफ ऐसे विरोध करते रहेंगे।

दरअसल मध्यप्रदेश के शिक्षक काफी लम्बे समय से समान कार्यो के लिए समान वेतन की मांग कर रहें है। उचित ट्रान्सफर नीति की मांग करते रहें है। मगर सरकार इन मांगों को नज़रंदाज़ करती आई है।



जिसका गुस्सा आज शनिवार को भोपाल के जंबूरी मैदान में देखने को मिला, जहां हजारों की संख्या में अध्यापक एकत्रित हुए। ये यात्रा शनिवार की सुबह अधिकार यात्रा से सुबह 9 बजे विदिशा से चलकर भोपाल पहुंची। जहां पर 50 से ज्यादा महिला अध्यापकों ने मुंडन कराया।

इस मामलें पर आजाद आजाद अध्यापक संघ के प्रांतीय महासचिव केशव रघुवंशी ने कहा कि वो  शिक्षा विभाग में कुल 13 मांगो को लेकर आदोलन करते आ रहे है। मगर शिवराज सरकार को इसकी कोई फिक्र ही नहीं है। जिसके चलते हमें ये यात्रा निकालनी पड़ी है।

इस दौरान शहर के मुख्य मार्गों से रैली निकाली गई और बाद में संघ के जिला संगठन मंत्री निरंजन सिंह कुशवाह ने मुंडन कराकर संविलियन की मांग की। इस दौरान जिले भर से बड़ी संख्या में अध्यापक मौजूद रहे।

        Loading…

Our Sponsors
Loading...