विडियो: करणी सेना की गुंडागर्दी, बच्चों की स्कूल बस पर बरसाएं पत्थर, रोते-बिलखते रहे बच्चे

127

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ की रिलीज से एक दिन पहले कई जगहों पर चक्का जाम और करणी सेना ने विरोध प्रदर्शन किया। करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने गुड़गांव में स्कूल बस को भी नहीं छोड़ा। करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने गुड़गांव में जीडी गोयनका स्कूल के एक बस पर भी हमला किया और हरियाणा रोडवेज के बस में आग लगा दी।

ANI ट्वीट से लिया गया स्क्रीनशॉट.

करणी सेना इस फिल्म के खिलाफ है और वह इस फिल्म को रिलीज नहीं होने देना चाहती है। गुड़गांव के सोहना रोड पर भोंडसी के पास स्कूल बस पर पत्थर फेके गए। वहीं, गुड़गांव पुलिस ने हिंसा फैलाने वाले 25 से ज्यादा लोगों को डिटेन किया है और बाकी लोगों को पकड़ने के लिए 6 से ज्यादा टीमें बनाई है।

जीडी गोयनका स्कूल बस के ड्राइवर परवेश कुमार ने बताया कि करणी सेना के कार्यकर्ता अचानक ही बस पर पथराव करने लगे उस समय बस में दूसरी से लेकर 12वीं तक के बच्चे मौजूद थे। हालांकि इस घटना में किसी बच्चे को चोट नहीं आई है। हालांकि जब मौके पर पुलिस पहुंची तब प्रदर्शनकारी भाग निकले। बस में मौजूद स्कूल की एक शिक्षिका ने बताया कि जब प्रदर्शनकारी बस पर पत्थर फेंक रहे थे उस समय सभी बच्चों को बस के अंदर फर्श पर बिठा दिया गया था।

बस में जान बचाने के लिए नीचे छिपते बच्चे.

उधर, फरीदाबाद पुलिस ने पद्मावत फिल्म के विरोध के मद्देनजर फरीदाबाद के सभी मल्टीप्लेक्स के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी है। थियेटरों के बाहर पुलिस दिन-रात तैनात रहेगी। फरीदाबाद में पद्मावत फिल्म केवल 2 जगह क्राउन इंटीरियर और SRS मल्टीप्लेक्स में चलाई जा रही है। यह जानकारी फरीबाद के सीपी ऑफिस के पीआरओ ने दी है।

इससे पहले गुड़गांव में भोंडसी गांव के पास करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने हरियाणा रोडवेज की बस में कथित रूप से आग लगा दी। इस संबंध में गुड़गांव के डिप्टी कमिश्नर विनय प्रताप सिंह ने कहा पद्मावत फिल्म पर हो रहे विरोध के बवजूद भी बार और पब बंद नहीं होंगे।

पुलिस के अनुसार, कार्यकर्ताओं के एक समूह ने यहां सोहना रोड पर भोंडसी गांव के पास हरियाणा रोडवेज की बस में आग लगा दी। गुड़गांव में एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘इस घटना में एक बस में आग लगा दी गयी है।’’ उन्होंने बताया कि इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ। करणी सेना के प्रति कथित रुप से निष्ठा रखने वाले कार्यकर्ता इस फिल्म की रिलीज का विरोध कर रहे थे।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले हरियाणा के पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने उपद्रवियों को यह कहते हुए चेताया था कि राज्य में किसी को भी शांति भंग करने नहीं दिया जाएगा। पुलिस ने कहा था कि वह उन सिनेमाघरों को पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करेगी जो 25 जनवरी को यह फिल्म प्रदर्शित करेंगे।

कई छोटे-मोटे संगठनों ने मल्टीप्लेक्स, थियेटर और सिनेमा हॉल के मालिकों को यह फिल्म दिखाने के खिलाफ धमकी दी है और आरोप लगाया है कि इस फिल्म में रानी पद्मावती का गलत चित्रण किया गया है। इक्कीस जनवरी को कुरुक्षेत्र में कुछ अज्ञात अराजक तत्वों ने शॉपिंग मॉल में तोड़फोड़ की थी।

        Loading…

Our Sponsors
Loading...