राम की नगरी के बाद यहाँ भी चली कांग्रेस की लहर, भाजपा के मंसूबो पर फिरा पानी

679


चित्रकूट के बाद कान्ग्रेस ने एक और सफलता हासिल की है, राज्य के मुरैना जिले की सबलगढ़ नगर पालिका की कुर्सी कांग्रेस ने फिर बचा ली है। ख़ास बात ये है कि यहाँ कांग्रेस की चेयरमैंन गीता सुरेश चौधरी को हटाने के लिए राईट तो काल कानून के सहारे की हटाने की कोशिश की गयी थी लेकिन पार्षदों द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाने के बाद राईट तो रीकाल के तहत इस सीट पर दुबारा चुनाव हुआ लेकिन जनता ने एक बाद फिर कांग्रेस को वोट देकर गीता चौधरी को दुबारा अध्यक्ष बनवा दिया।



Madhya Pradesh CM Shivraj Singh Chauhan.

कांग्रेस की गीता चौधरी ने सबलगढ़ नगरपालिका सीट पर 2618 मतो से जीत हासिल की। कांग्रेस के दुबारा जीतने से भाजपा नेताओ के मंसूबो पर पानी फिर गया है। कांग्रेस ने इस जीत को सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की जीत बताया है। दरअसल सबलगढ़ के मौजूदा चेयरमेंन को हटाने के लिए भाजपा नेताओ ने पूरी घेरेबंदी की थी।

        Loading…

सबलगढ़ नगर पालिका की अध्यक्ष गीता सुरेश चौधरी के खिलाफ 14 पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में वोट दिया था। लेकिन अविश्वास आने के बाद शासन ने चुनाव को स्थगन करार दिया था लेकिन बाद में कोर्ट ने दोबारा से अध्यक्ष को राईट तो रिकॉल करने के लिए निर्वाचन को कहा।

Rahul Gandhi.

जिसके बाद सबलगढ़ में शुक्रवार को मतदान कराया गया था, लेकिन नतीजा फिर कांग्रेस उम्मीदवार गीता चौधरी के पक्ष में रहा। गीता चौधरी के बेटे दीपक चौधरी ने काउंटिंग के बाद जनता और कांग्रेस पार्टी के साथ ही कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की जीत बताया।

Our Sponsors
Loading...