मोदीजी से हुई बड़ी चूक. ४५ मिनट के भाषण में नहीं बताया ‘दावोस’ से अपना कोई पुराना रिश्ता. मचा हड़कम्प।

279

दावोस (स्वीटजरलैंड) : देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावोस में आयोजित वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में भाषण देने के लिए हिस्सा दिया. प्रधानमन्त्री मोदी के भाषण का कवरेज करने पहुंची दुनियाभर की मीडिया को आज मोदीजी के भाषण से तगड़ा झटका लगा.

अपने भाषण में मोदीजी ऐसी चूक कर दी जिसकी किसी ने कल्पना तक न की थी. अपने भाषण में समाजशास्त्र से लेकर दर्शनशास्त्र तक हर विषय पर बोल चुके मोदीजी से उनका फेवरेट टॉपिक ही छूट गया। उन्होंने अपने पूरे ४५ मिनट के भाषण में एक बार भी दावोस से अपना पुराना रिश्ता नहीं बताया. और भाषण खत्म कर दिया।



मोदीजी का भाषण खत्म होते ही दावोस के लोगों में गहरी निराशा छा गई. एक महीने से दावोस के लोग जिस पल का इंतजार कर रहे थे कि मोदीजी आएंगे. और अपने से उनका क्या रिश्ता है बताएंगे वो घड़ी आई ही नहीं।

मोदीजी के इस भारी चूक पर जब हमने बीजेपी के प्रवक्ता विधांसु त्रिवेदी से बात की तो उनका कहना था कि देखिये ऐसा नहीं है, मोदीजी ने कल ही गूगल किया था कि दावोस से उनका क्या रिश्ता निकल सकता है. और उन्होंने डिसाइड भी किया था कि दावोस के लोगों से अपना पुराना रिश्ता है. लेकिन इकोनोमिक फोरम वाले चीटिंग कर गए और उन्होंने मोदीजी को सिर्फ ४५ मिनट बोलने दिया। अब बताइये इतने कम टाइम में मोदीजी कैसे बोल पाएंगे. वो कितना भी सॉर्ट करते हैं फिर भी २-३ घण्टे लग ही जाते हैं. और दावोस वालो ने उन्हें सिर्फ ४६ मिनट दिया. इसी हड़बड़ाहट में मोदीजी से रिश्ता बताना छूट गया।

और वैसे भी दावोस वालों को निराश नहीं होना चाहिये. दावोस वालों से ही तो हमारा असली रिश्ता है. क्योंकि दावोस भी स्वीट्जरलैंड में पड़ता है और स्वीस बैंक भी. और स्वीस बैंक से हमारा कितना पुराना रिश्ता है ये भला बताने वाली बात है?

        Loading…

Our Sponsors
Loading...