मैं BJP में नहीं हूं इसलिए कोर्ट के धक्के खा रहा हूं, मेरे कई साथी भाजपा में चले गए वो आराम से है : हार्दिक पटेल

146

सत्ता में रहने वाले कैसे बच जाते और उसके विरोध में बोलने वाली हर आवाज़ को दबा दिया जाता है ये हमें इन दिनों देखने को मिल ही रहा है। वहीँ गुजरात में बीजेपी की फिर से सरकार बनने पर कैसे बीजेपी उन लोगों को बचा रही जिन पर दाग है मगर अब वो दाग अच्छे है क्योकिं वो अब बीजेपी में है।

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने इसी तरफ इशारा करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा कि गुजरात में भाजपा की दुबारा सरकार बनते ही कोर्ट के धक्के ज़्यादा हो गए, अगर सच में आरोपी होता तो में जेल और कोर्ट के चक्कर में नहीं भाजपा में होता!

हालाकिं हार्दिक ने आगे न्यापालिका पर अपना भरोसा देखता हुए लिखा कि, मुझे न्यायतंत्र पर पूरा विश्वास है मगर सरकार, पुलिस और प्रशासन पर तो विश्वास नहीं हैं।

देशद्रोह के आरोप में मेरे साथ चार लोग थे लेकिन दूसरे आरोपी भाजपा में चले गए है तो उनको कोर्ट के धक्के नहीं लगाने पड़ते, मैं अत्याचार और अन्याय के ख़िलाफ़ नहीं हारा इसलिए अब मुझे न्यायतंत्र के सामने हराने का षड्यंत्र हो रहा हैं।

मेरी लड़ाई में सच्चाई है इसलिए अभी नहीं जीत पाउँगा लेकिन मुझे विश्वास है जनता यह लड़ाई जितने में मुझे सहयोग देंगी, सत्यमेव जयते।

बता दें कि गुजरात में पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल पर राजद्रोह का मामला दर्ज है। हार्दिक पर आरोप है की उन्होंने अक्तूबर 2015 में उनके द्वारा संबोधित रैली के हिंसक होने के बाद सरकार को अपदस्थ करने के इरादे से हिंसा भड़काने का आरोप लगाया गया है।

        Loading…

Our Sponsors
Loading...