बीजेपी वोटर ने बेटी की शादी के कार्ड पर छपवाया ‘हमारी भूल, कमल का फूल’

746

केवल सरकारी आंकड़ों से ही नहीं बल्कि वास्तव में भारत के नौजवानों का भविष्य लगातार अंधकार की ओर बढ़ता जा रहा है। जो राजनैतिक पार्टी युवाओं को नौकरियां बांटने के वादे पर देश के लगभग सभी राज्यों में अपनी सरकारें बना चुकी हैं आज हालात ये है कि वही सरकारें नौकरी देना तो दूर उन युवाओं के मुंह का निवाला भी छीन ले रही है। ऐसा ही एक मामला मध्यप्रदेश की बीजेपी सरकार का है। जहां संविदा पर नियमित कर्मचारियों के मुकाबले आधे से भी कम वेतन पर गधामजदूरी जैसे काम करने वाले संविदा कर्मियों को शिवराज सरकार ने बेरोजगार कर दिया। बीजेपी सरकार ने न केवल उन संविदा कर्मियों के पेट पर लात मारी बल्कि उन पर कामचोरी जैसे आरोप लगा कर उनके आत्मसम्मान को भी ठेस पहुंचाया है।

मध्यप्रदेश की बीजेपी सरकार से नाराज परिवार

एमपी के सागर जिले में एक परिवार ने अपनी बेटी के मैरेज इंविटेशन कार्ड पर ‘हमारी भूल, कमल का फूल’ छपवाया है। दरअसल इस परिवार से 6 फरवरी को राजेंद्र की बेटी रागिनी की डोली उठनी है जिसके खर्च के लिए परिवार अपना खेत गिरवी रखने की स्थिति तक आ पहुंचा है। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि रागिनी का भाई अनुराग जैन वर्ष 2010 से स्वास्थ्य विभाग में बतौर संविदाकर्मी की नौकरी कर किसी तरह अपना परिवार चला रहा था और बहन की शादी का जिम्मा भी अनुराग पर था। लेकिन राज्य की बीजेपी सरकार ने करीब 474 संविदाकर्मियों को नौकरी से निकाल दिया जिसमें अनुराग भी शामिल है।


शादी के कार्ड पर छपा ‘हमारी भूल, कमल का फूल’

बीजेपी सरकार के इस फैसले से परिवार काफी आहत है। इसलिये परिवार ने बेटी के मैरेज इंविटेशन कार्ड पर ‘हमारी भूल, कमल का फूल’ छपवा कर इसी साल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी को वोट न देने की अपील की है। साथ ही परिवार के लोगों का कहना है कि आगे घर के बाहर इसी तरह का बैनर लगाने के लेकर बच्चों की स्कूल ड्रेस तक ‘हमारी भूल, कमल का फूल’ छपवाकर जनता को जागरूक करेंगे। अनुराग का कहना है जिस पार्टी ने युवाओं को नौकरी देने के नाम पर हमसे वोट लिया और सरकार बनाई आज वही सरकार हम युवाओं की नौकरी छीन रही है।

        Loading…

Our Sponsors
Loading...