बीजेपी और चुनाव आयोग की मिलीभगत पर बीजेपी नेता का सबसे बड़ा बयान

5661

भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का घटिया बयान देना, यह कोई उनके लिए बड़ी बात नहीं है। क्योंकि अक्सर भाजपा के नेता घटिया बयान देते ही रहते है और साम्प्रदायिकता का माहौल पैदा करना चाहते है। एक बार पूर्व सुप्रीमकोर्ट जज मार्कंडेय काटजू ने कहा था कि, ‘बीजेपी सिर्फ दंगे फैलाकर ही जीत सकती है।’ काटजू ने खुलेआम यह बात की थी और इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा था कि, ‘मोदी एक सबसे बड़ा फ्रॉड आदमी है।’

        Loading…

काटजू के अलावा हिंदुस्तान के सबसे मशहूर वकील जो कभी भाजपा के रहनुमा हुआ करते थे, जिन्होंने खुलकर लोकसभा चुनाव के समय मोदी का साथ दिया था और उनके लिए प्रचार भी किया था। अब वह भी भाजपा और मोदी के झूठे वादों से परेशान होकर उनके खिलाफ कुछ न कुछ बोलते ही रहते है। एक तो उन्होंने भी इंटरव्यू देते हुए कहा था कि, ‘इन हरामजादो को जेल में भेजना ही मेरा मकसद रह गया है।’

अभी हाल ही में जब देश के पांच राज्यों में विधानसभा के चुनाव हुए थे तब यूपी के कई नेता ने भड़काऊ और ज़हरीले भाषण दिए थे, जिनके कारण बहुत विवाद भी हुआ था। भाजपा के योगी आदित्यनाथ से लेकर साध्वी प्राची जैसे नेताओं के भड़काऊ भाषण अक्सर सामने आते ही रहते है। भाजपा के इन नेताओं को फायरब्रांड नेता के तौर पर जाना जाता है। एक विडियो सामने आया है जिसमें कुछ समय पहले बीजेपी के एक नेता ने खुलेआम यह कहा था कि, ‘चुनाव आयोग उनके हाथ में है।’

इन नेताजी का नाम जॉय बनर्जी है जो फ़िल्मी दुनिया को छोड़कर राजनीति में आये है। इन्होने पब्लिक को खुलेआम कहा था कि, ‘चुनाव आयोग उनकी पार्टी के कण्ट्रोल में है और अगला विधानसभा चुनाव सेना की निगरानी में करवाया जायेगा।’ इसके अलावा मनोज तिवारी जो बीजेपी के नेता है वह भी फ़िल्मी दुनिया को छोड़कर राजनीति में अपना करियर चुना था। इन्होने भी नोटबंदी के बाद अपने नेताओं के बीच देशवासियों का मजाक बनाया था। इसके अलावा मनोज तिवारी इससे पहले भी दिल्ली की लडकियों का मजाक बना चुके है।

लेकिन बीजेपी नेता जॉय बनर्जी का इस तरह यह कह देना कि, चुनाव आयोग उनके कब्जे में है तो अभी जब उत्तर प्रदेश और जो भी उत्तराखंड के चुनाव परिणाम में हुआ था वो किसी के गले नहीं उतर रहा है। देशभर में इस चुनाव परिणाम को लेकर ईवीएम घोटाला बताया जा रहा है। इसके जवाब में जब विपक्ष के जेडीयू नेता अजय आलोक ने बताया कि, केंद्र में बीजेपी सरकार होने की वजह से और केंद्र में मोदी होने की वजह से इसका नाच तो साफ़ दिखाई दे रहा है। इन्होने बताया कि, ‘वह सही ही कह रहे है, क्योंकि चुनाव आयोग उनके हाथ में है तो वह जैसे चाहे वैसे करवाएंगे।’ इसके अलावा इन्होने यह भी कहा कि, ‘चुनाव आयोग का दायित्व बनता है कि, वह अपनी निष्पक्षता साबित करके दिखाए।’

Our Sponsors
Loading...