बीजेपी उम्मीदवार के ही ख़िलाफ़ उतरा बीजेपी नेता – पढ़े पूरी खबर

261

रामनाथ कोविंद सत्तापक्ष की तरफ से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनाए गए हैं। विपक्ष की तरफ से मीरा कुमार को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया गया है। आज सुबह 10 बजे से ही संसद भवन सहित सभी राज्यों में राष्ट्रपति पद का चुनाव हो रहा है। यह मतदान शाम पांच बजे तक चलेगा। राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे 20 जुलाई को आएंगे।

 

जहां एक तरफ बीजेपी इस चुनाव को लेकर ज्यादा चिंतित नहीं है और उसने दावा किया है कि उसके राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को 40 राजनीतिक दलों का समर्थन प्राप्त है। वहीं भीतरखाने से खबर आ रही है कि खुद बीजेपी के कई नेता रामनाथ कोविंद का समर्थन नहीं कर रहे हैं। या ये कह लीजिए कि वह बीजेपी का समर्थन नहीं कर रहे हैं। गुजरात के एक बीजेपी विधायक ने खुलेआम मोदी सरकार के फैसले का विरोध करते हुए कहा कि वह बीजेपी के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का समर्थन नहीं करेंगे।

 

 

गुजरात के बीजेपी विधायक नलिन कोटडिया ने कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी को वोट नहीं करेंगे क्योंकि बीजेपी की सरकार ने पाटीदार समाज के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि गुजरात की बीजेपी सरकार ने उनके समाज के 14 लोगों की हत्या की है और हमारी मांगों को पूरा नहीं किया है। उन्होंने कहा कि मैं बीजेपी के खिलाफ वोट करूंगा।

 

उन्होंने यह भी कहा कि मुझे भाजपा की तरफ से कार्रवाई का कोई डर नहीं है। भारतीय जनता पार्टी जो करना चाहे करे। उन्होंने यह भी कहा कि अगर भाजपा को मेरे खिलाफ कार्रवाई करनी होती तो वह दो साल पहले ही कर लेते। पार्टी अगर मुझे बर्खास्त करना चाहे तो मुझे कोई परवाह नहीं।

 

गुजरात के विधायक का यह बयान भाजपा के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है। आपको बता दें कि गुजरात में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में बीजेपी विधायक की तरफ से ऐसा बयान पार्टी में फूट डाल सकता है।

सबसे खास बात यह है कि राष्ट्रपति चुनाव में कोई भी राजनीतिक दल अपने विधायकों और सांसद को अपने प्रत्याशी को वोट देने के लिए व्हिप नहीं जारी कर सकता। यानी विधायक और सांसद अपनी मर्जी से वोट दे सकते हैं और पार्टी के उम्मीदवार के खिलाफ वोट करने पर उनकी कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की जा सकती।

आपको बता दें कि नलिन कोटाडिया का ये बगावती तेवर नया नहीं है। पिछले साल सितंबर में जब गुजरात में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली में कुर्सियां और टोपियां उछाली तथा तोड़फोड़ की गई थी, तो पुलिस ने जिन 200 लोगों को हिरासत में लिया था उनमें नलिन कोटाडिया भी शामिल थे।

Our Sponsors
Loading...