फर्रुखाबादः भाजपा सांसद दूसरे की पत्नि और बेटी को लेकर फरार,पीड़ित ने दी आत्मदाह की धमकी।

1469

फरुर्खाबाद – पिछले दिनों अपने पुत्र की पिटाई के मामले में मीडिया की सुर्खियों में रहे फर्रुखाबाद के भाजपा सांसद मुकेश राजपूत अब एक और नऐ विवाद में घिर गए हैं। मुकेश राजपूत पर इस हबार बहुत0 गंभीर आरोप लगे हैं। लिंजीगंज के रहने वाले युवक ने भाजपा सांसद मुकेश राजपूत पर पत्नी और बेटी को अगवा करने का आरोप लगाया है। पीड़ित युवक के अनुसार मुकेश ने उसकी पत्नी और बेटी को कहीं गायब कर दिया है। इस मामले में युवक ने सिटी मजिस्ट्रेट से न्याय गुहार की लगाई है। नन्द किशोर राजपूत ने एसएसपी को एक पत्र लिखकर पत्नी और बेटी को वापस दिलाने की मांग करते हुए धमकी दी है कि उसे इन्साफ नही मिला फिर वो संसद भवन के सामने आत्मदाह कर लेगा.

 

जानें क्या है मामला?

पीड़ित युवक नंदकिशोर ने नगर मजिस्ट्रेट जैनेन्द्र कुमार जैन से शिकायत की है,  जिसमें कहा गया है कि उसकी शागी 9 फरवरी 2000 को हुई थी। और 2006 में करवाचौथ के 10 दिन पहले उसकी पत्नी घर से गयी और वापस नहीं लौटी। नंदकिशोर ने कहा है कि उसकी पत्नि घर से जेवर, कपड़ा, सामान,नाबालिक पुत्री को लेकर गयी थी। जब उसने उसके मायके में पता किया तो वहां भी उसका सुराग नहीं लगा। युवक का कहना है कि घटना के लगभग दो महीने बाद भाजपा सांसद मुकेश राजपूत ने पीड़ित युवक को बुलाकर कहा कि तुम्हारी पुत्री की मौत हो गयी है, और तुम्हारी पत्नी अब तुम्हारे साथ नहीं रहना चाहती, उसे तलाक दे दो।

 

सांसद ने पत्नी के साथ की शादी

नंदकिशोर का आरोप है कि कुछ समय बाद हमें पता चला कि मेरी पुत्री जिंदा है। सांसद द्वारा उसकी मौत की झूठी खबर प्रकाशित कराई गई। जब वह इसकी जानकारी करने गया तो उन्होंने गाली-गलौज करके भगा दिया। नंदकिशोर ने इल्जाम लगाया की सांसद मुकेश राजपूत ने पत्नी के साथ शादी  कर ली है और उसे दिल्ली या लखनऊ में पत्नी के रूप में रखते हैं। नंदकिशोर कहा कहना है कि पत्नी ने एक और पुत्री को भी जन्म दिया है। भाजपा सांसद ने पत्नी का नाम बदलकर शीतल राजपूत रख दिया है।

पीड़ित युवक अपनी फरियाद लेकर डीएम ऑफिस पहुंचा, जहां पर उसने सिटी मजिस्ट्रेट से न्याय गुहार की लगाई है। मामले के हाई प्रोफाइल होने की वजह से सिटी मजिस्ट्रेट भी मामले को टरकाते नजर आए हैं। पीड़ित नंदकिशोर ने इस मामले में सबूत के तौर पर कुछ तस्वीरें भी अधिकारियों को दिखाई हैं, दरअस्ल ये मामला भाजपा सांसद मुकेश राजपूत से जुड़ा है लिहाजा प्रशासन भी इस मामले भी फूंक फूंक कर कदम रख रहा है।

 

सासंद बोले बेबुनियाद हैं आरोप

नंदकिशोर द्वारा लगाये गये आरोपों को सांसद मुकेश राजपूत ने सिरे से ख़ारिज कर दिया है। उनका कहना है कि जिला पंचायत चुनाव को प्रभावित करने के लिये इसमें सपा ने साजिशन उनका नाम लिया है, सांसद का कहना है कि इसके पीछे सपा नेता सुबोध यादव का हाथ है। सांसद ने कहा कि हम इन आरोपों से घबराने वाले नहीं हैं। भाजपा के इस सांसद ने पुलिस अधीक्षक से इस मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है। उन्होंने कहा कि बदनाम करने वालों से जिला पंचायत के चुनाव के बाद निपटा जाएगा। वहीं इस पूरे मामले पर जिलाधिकारी जैनेन्द्र कुमार जैन ने बताया कि नंदकिशोर नाम के युवक द्वारा पत्नी और बेटी के अपहरण की शिकायत मिली है। जिसे जाँच के लिये शहर कोतवाली को भेज दिया गया है।

Our Sponsors
Loading...