पांच रूपये के चिप्स के पैकेट ने ली चार साल के मासूम की जान, इसकी कहानी सुन कर रो देंगे आप

368

भारत में दूध और चावल में मिलावट के बारे में तो हम सब ने सुना ही होगा. लेकिन आज कल मिलावटों को दौर इतना ज्यादा बढ़ गया है कि आप सपने में भी नहीं सोच सकते. कुछ लोग अपना बिजनेस चलाने के लिए ऐसे ऐसे पैंतरे अपनाते हैं कि लोग आसानी से उनकी तरफ आकर्षित हो जाएँ. ऐसे में बिजनेस करने का सबसे अच्छा जरिया उन्हें बच्चों में मिलता है. क्यों कि छोटे छोटे बच्चे अक्सर खिलोनो और खाने की चीजों पर अपनी जान छिडकते हैं.




कंपनियां इतनी गिर गयी हैं कि अपने प्रोडक्ट्स बेचने के लिए छोटे छोटे बच्चों को खिलोनों का लालच देती है. ऐसे में नादान बच्चे उस चीज़ को खरीदने के लिए पागल हो जाते हैं. कुछ ऐसा ही अजीबो गरीब मामला हाल ही में हमारे सामने आया है. जहाँ एक चिप्स की कंपनी ने बच्चों को आकर्षित करने के लिए उस चिप्स में टैटू और खिलोने डाल दियें. ता कि बच्चे उन स्टिकरस और खिलोनो के लिए उनकी चिप्स खरीद लें. लेकिन इसी बीच इस चिप्स ने एक 4 साल के मासूम की जान ले ली. इस बात से पूरे भारत में बवाल मचा हुआ है. तो चलिए जानते हैं इस मासूम की पूरी कहानी आखिर क्या है…




बच्चों को होते हैं बेहद पसंद होते हैं स्नैक्स

एक ज़माने में बच्चों को खुश करने के लिए उन्हें मिट्टी के खिलोने बना कर खेलने को दीये जाते थे. या फिर उन्हें घर की बनाई कोई चीज़ खिला दी जाती थी. कभी आटे के पक्षी बनाकर उन्हें खिला दीये जाते थे, तो कभी मिट्टी के घर बना कर उन्हें खुश कर दिया जाता था. लेकिन, आज के बच्चों को खाने की चीज़ों को बहुत शौंक रहता है. छोटे छोटे बच्चे टॉफ़ी, चोकलेट, चिप्स, नमकीन आदि जैसे स्नैक्स के दीवाने होते हैं. ऐसे में इन प्रोडक्ट्स को बनाने वाली कम्पनियां बच्चों की इस चॉइस को ख़ास ध्यान में रखते हुए उनकी चीज़ में खिलोने या टैटू आदि रख देते हैं. ता की पैकेट खत्म करने के बाद बच्चे अपना दिल उस खिलोने से बहलाते रहें. लेकिन, कईं बार हम किसी का अच्छा करने के चक्कर में बुरा कर जाते हैं इसका एहसास हमे बाद में होता है. कुछ ऐसी ही एक घटना का शिकार एक मासूम भी हुआ है चलिए आगे बड़ते हैं पूरी खबर की तरफ.
        Loading…

चिप्स बना बच्चे का दुश्मन

आँध्रप्रदेश के पश्चिमी गोदावरी जिले में एक ऐसी घटना हुई है जिसने सबको चौंका कर रख दिया है. जानकारी के अनुसार यहाँ एक चार साल के बच्चे की जान चली गयी है. और उसकी जान के दुश्मन कोई और नहीं बल्कि चिप्स कम्पनी के मालिक हैं. दरअसल, आँध्रप्रदेश की एक चिप्स कम्पनी, बच्चो को चिप्स खरीदने पर मजबूर करने के लिए पैकेट में खिलोने फ्री देती थी.लेकिन वही खिलौना एक 4 साल के मासूम का दुशमन बन बैठा. जानकारी के अनुसार इस बच्चे ने चिप्स खाते हुए खिलोने को भी खा लिया. जिसकी वजह से खिलौना उसकी श्वास ग्रंथियों में चला गया. सांस घुटने के कारण उस मासूम को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा.

एक रिपोर्ट के अनुसार जब बच्चे की माँ को पता चला कि बच्चे के मुंह से पानी निकल रहा है और उसके गले में कुछ फंस गया है तो, उसने उस खिलोने को निकालने की पूरी कोशिश की. इस लिए बच्चे को हस्पताल भी लेजाया गया. हस्पताल जाकर डॉक्टरों ने उस बच्चे को मृत घोषित कर दिया. फिलहाल पुलिस उस चिप्स कम्पनी के खिलाफ कारवाई कर रही है. ता कि आगे जाकर वह चिप्स किसी और मासूम की जान ना ले.

Our Sponsors
Loading...