देश ‘रामभरोसे’ छोड़कर BJP ने 50 केंद्रीय मंत्री समेत कई राज्य के CM को गुजरात चुनाव में झोंका, उठे सवाल

293


जहां एक तरफ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कह रहे हैं कि राहुल गांधी को गुजरात ने नकार दिया है और भाजपा की जीत पक्की है। वहीं दुसरी तरफ मोदी कैबिनेट के अधिकतर मंत्रियों को गुजरात चुनाव प्रचार में झोंक दिए गए हैं।

पीएम मोदी खुद 27 से 29 नवंबर के बीच भूज, जसदान, अमरेली, सूरत, मोरबी, सोमनाथ, भावनगर, नवसारी में जनसभा करने वाले हैं।

ऐसे में सवाल उठता है कि जब राहुल गांधी को गुजरात ने नकार ही दिया है फिर मोदी मंत्रिमंडल के 50 मंत्री गुजरात क्यों पहुंचे है? पीएम मोदी अपने व्यस्त कार्यक्रम को छोड़कर गुजरात में उर्जा क्यों बर्बाद कर रहे हैं? गुजरात में भी यूपी चुनाव के तर्ज पर बीजेपी ने चुनाव से ऐन वक्त पहले अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।




इन 50 केंद्रीय मंत्रियों के अलावा कई राज्यों के मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री को भी गुजरात चुनाव प्रचार में उतारा जाएगा। केंद्रीय मंत्रिमंडल के तमाम बड़े चहरे गुजरात में दिखाई देने वाले हैं जैस- विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, पेय जल मंत्री उमा भारती, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी, रेल मंत्री पीयूष गोयल, स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा, उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विकास मंत्री जितेंद्र सिंह, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम के मंत्री गिरिराज सिंह, संचार राज्यमंत्री (स्तंत्र प्रभार) मनोज सिन्हा, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, वाणिज्य और उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु….. लिस्ट बहुत लंबी है।

मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री की बात करे तो योगी आदित्य नाथ, वसुंधरा राजे, शिवराज सिंह चौहान, देवेंद्र फडणविस, मनोहर लाल खट्टर, मनोहर परिकर, सुशिल कुमार मोदी, केशव प्रसाद मौर्य…. लिस्ट लंबी हो सकती है।

और ऐसा भी नहीं है कि पीएम 29 के बाद रैली नहीं करेंगे, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 नवंबर के बाद भी गुजरात चुनाव प्रचार के लिए जा सकते हैं।

इस मामले में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शकील अहमद ने ट्विट किया है  कि पीएम मोदी गुजरात में 50 मंत्रियों के साथ 50 जनसभाएं करेंगे और अमित शाह कहते हैं कि गुजरात ने राहुल गांधी को नकार दिया है। हाहाहा।

Courtsey: Bolta Hindustan

        Loading…

Our Sponsors
Loading...