खबर गुजरात में कांग्रेस, जदयू, कम्युनिस्ट और हार्दिक पटेल मिलकर देंगे बीजेपी को पटखनी

199

नई दिल्ली। दो फाड़ होने के बाद शुरू हुई असली जनता दल यूनाइटेड की लड़ाई के बीच शरद यादव गुट ने गुजरात में आगामी विधानसभा चुनाव कांग्रेस और वाम दलों सहित समान विचारधारा वाले अन्य दलों के साथ मिलकर लड़ने का फैसला किया है।

जेडीयू के शरद गुट के कार्यवाहक अध्यक्ष छोटूभाई वसावा ने यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि जदयू गुजरात में कांग्रेस और वाम दलों के साथ मिलकर भाजपा को चुनौती देगी। उन्होंने कहा कि गुजरात में पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल से भी गठजोड़ करने की कोशिश की जा रही है।

गौरतलब है कि शरद गुट ने कल यानी रविवार को दिल्ली में एक बैठक में बसावा को कार्यवाहक अध्यक्ष नियुक्त किया था। शरद यादव की मौजूदगी में हुई बैठक में जदयू के अध्यक्ष के रूप में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की नियुक्ति को रद्द कर उनकी जगह वसावा को कार्यवाहक अध्यक्ष बनाया गया था।

गुजरात विधानसभा में छह बार से विधायक वसावा ने केन्द्र में मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि नोटबंदी और जीएसटी से देश की अर्थव्यवस्था तहस नहस हो गई है। राज्य के प्रभावशाली आदिवासी नेता वसावा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कल शुरू की गई सरदार सरोवर परियोजना से आम आदमी को भविष्य में कोई लाभ नहीं मिलेगा।

उन्होंने कहा, “हम गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और अन्य वाम दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे. साथ ही हमारी कोशिश हार्दिक पटेल से भी चुनावी गठजोड़ करने की है.” गुजरात में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव संभावित हैं।

पार्टी में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की स्थिति के सवाल पर वसावा ने दावा किया कि कुमार ने पार्टी से नाता तोड़ लिया है। उन्होंने कहा कि संगठन की बुनियाद कार्यकर्ता और पदाधिकारी होते हैं, विधायक और सांसद नहीं।

वसावा ने जदयू के 20 प्रदेश इकाईयों के अध्यक्ष और अन्य पदाधिकारियों के कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने का दावा करते हुये कहा कि नीतीश के पास सिर्फ सत्ता के ‘लोभी विधायक और सांसदों’ का समर्थन हैं।

व्ही सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विधानसभा चुनाव में बीजेपी का विरोध न करने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हार्दिक पटेल से फोन पर बातचीत की थी। सूत्रों ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि हार्दिक पटेल पहले नीतीश कुमार से मुलाकात कर चुके हैं लेकिन उस समय नीतीश कुमार की छवि बीजेपी विरोधी थी। बदले राजनैतिक माहौल में अब नीतीश कुमार बीजेपी के साथ खड़े हैं। ऐसे में हार्दिक पटेल ने नीतीश कुमार के निवेदन को अस्वीकार कर दिया है।

सूत्रों ने कहा कि हार्दिक पटेल जदयू के नव नयुक्त कार्यकारी अध्यक्ष विधायक छोटू भाई वसावा के संपर्क में हैं, ये बात सही है। सूत्रों ने कहा कि जल्द ही हार्दिक पटेल शरद यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी से भी मुलाकात कर सकते हैं। सूत्रों ने यह भी कहा कि गुजरात में गठबंधन करने के लिए बहुजन समाज पार्टी को आमंत्रित किया गया है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव बसपा सुप्रीमो मायावती से इस बारे में बात कर रहे हैं।

Our Sponsors
Loading...