इन महिलाओं ने तो मोदी का पूरा व्यक्तिगत और राजनीतिक सच सामने ला दिया

343


नोटबंदी के बाद नोट बदलवाने के लिए जो पचास दिनों का समय दिया गया था अब वह लगभग पूरा होने वाला ही है। लेकिन अभी भी देश की जनता को राहत मिलती हुई नजर नहीं आ रही है। इतने दिन बीत जाने के बाद भी देश के हालात नहीं सुधरे है लोगों का सब्र का बाँध टूटने के बाद अब वह सड़कों पर आने लगे है मोदी और उसके मंत्रियों के पुतले जलाने लगे है। अभी हाल ही में दिल्ली और देशभर के कई इलाकों में मोदी के खिलाफ प्रदर्शन किया गया और अभी भी किया जा रहा है। नोटबंदी के बाद जिस तरह 8 नम्वबर के बाद दिखाई दे रही थी अभी भी वैसी की वैसी ही दिखाई दे रही है।




इन महिलाओं से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारें में जब इंटरव्यू लिया गया तो उन्होंने बताया कि, “बड़ी विडम्बना की बात है कि, एक घमंडी पुरुष जिस तरीके से देश के युवा नेता को हमेशा शहजादा कहके पुकारता है। अपनी पूरी जिंदगी मोदी ने अपनी धर्मपत्नी जसोदाबेन को वो छुपता रहा। लेकिन जब प्रधानमंत्री चुनाव लड़ने की बारी आती है तो यह स्वीकार करता है कि, उनकी एक धर्मपत्नी भी है।”

Narendra Modi.

लेकिन आश्चर्य की बात ये है कि, इतना समय रहने के बाद भी मोदी एक पति नहीं बन पाया। एक युवा नेता को वो शहजादा तो बड़ी आसानी से कह देते है लेकिन इन्होने बताया कि, “मेरा सवाल ये है कि, मोदी कहते है कि, उनकी छाती 56 इंच की है लेकिन सवाल ये है कि, 56 इंच की छाती होने के बावजूद भी वह तीन साल अपनी पत्नी के साथ रहने के बावजूद भी एक पिता क्यों नहीं बन पाया।” मोदी से सवाल किया जा रहा है कि, वो दूसरों को तो शहजादा कह देते है लेकिन खुद का शहजादा क्यों पैदा नहीं कर पाए?

जब दूसरी महिला से नोटबंदी के बारें में पुछा गया तो उन्होंने बताया कि, भारत के आजाद होने के बाद अब तक का देश की जनता के साथ किया जाने वाला सबसे बड़ा धोखा है। इसके साथ देश की जनता को यह झांसा दिया गया कि, इस फैसले से वह कालाधन मिटाने की कोशिश कर रहे है। यह फैसला एक बहुत बड़ी साजिश है और लोगों के पैसे लेकर बड़े उद्योगपतियों के कर्ज माफ़ किये जा रहे है।






बड़े उद्योगपतियों को बचाने के लिए देश की आम जनता को सजा दी जा रही है। नोटबंदी के फैसले के कारण बैंकों में पैसा आएगा और बैंकों में पैसा आने के कारण बड़े उद्योगपतियों को कर्ज देने की सुविधा और ज्यादा बढ़ जाएगी। यह बात तो साफ़ है कि, कर्ज सिर्फ बड़े उद्योगपतियों को दिया जाएगा। क्योंकि जो गरीब लोग है उन्हें तो कर्ज नहीं दिया जायेगा। लोगों की जनता के साथ धोखा किया जा रहा है, लेकिन इस धोखे के कारण आम जनता और गरीब आदमी इसके कारण पिछड़ते जा रहे है। लेकिन इस तरीके कारण आम जनता और गरीब जनता पर अत्याचार किया जा रहा है इसके कारण उनको गरीब लोगों की बददुआ मिलेगी।

        Loading…

Our Sponsors
Loading...