अक्ल नहीं है क्या? गाय एक जानवर है, माँ कैसे हो सकती है? : मार्कंडेय काटजू

874

जब से मोदी सरकार बनी है तब से हमारे देश में विकास के मुद्दे को छोड़कर बाकि सभी मुद्दों पर चर्चा की जा रही हैं। ऐसे लग रहा है कि, हमारे देशवासियों को सिर्फ इन मुद्दों में ही सरकार ने उलझाकर रख दिया है। हालाँकि, लोकसभा चुनाव से पहले मोदी जी ने यह वादा किया था कि, जब उनकी सरकार आएगी तो अच्छे दिन आयेंगे। करोड़ों नौकरियां मिलेगी, युवा बेरोजगार ऐसे ही नहीं घूमेंगे। लेकिन मोदी सरकार आने के बाद रोजगार बढ़ने की बजाय बेरोजगारी की समस्या और ज्यादा बढ़ चुकी है। इसके अलावा नोटबंदी ने वैसे भी भारत के अर्थव्यवस्था की कमर तोड़कर रख दी हैं।

 

जिस तरह का माहौल हमारे देश में देखने को मिल रहा है उससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि, हमारा देश किस तरफ जा रहा है। क्योंकि पड़ोसी देशों को हमारे देश के प्रधानमंत्री करोड़ों का कर्जा देने में लगे हुए है वहीँ दूसरी तरफ कुछ हजारों रूपये के लिए हमारे देश के किसानों को प्रधानमंत्री ऑफिस के बाहर नंगे होकर प्रदर्शन करना पड़ रहा है। सड़कों पर खुलेआम गौरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी हो रही है आये दिन किसी न किसी मुसलमान को निशाना बनाया जा रहा है।इसी मुद्दे पर बहस करते हुए जब सुप्रीमकोर्ट के पूर्व जस्टिस मार्कंडेय काटजू से इस मुद्दे पर बात की गई तो उन्होंने बताया कि, ‘मेरे बिलकुल स्पष्ट विचार है मैं खुद बीफ खाता हूँ और खाऊंगा, आपको अगर नहीं खाना है तो कोई जबरदस्ती नहीं है।


पूरी दुनियाभर में बीफ खाया जाता है, तो इस हिसाब से ये दुनियाभर के लोग बुरे हो गए और आप साधू-संत लोग हो गए। अगर आपको नहीं खाना है तो मत खाइए, हमारे देश के कई हिस्सों में बीफ खाया जाता है। गाय एक जानवर जैसे और जानवर है, गाय को माता मैं नहीं मानता हूँ।’ मार्कंडेय काटजू ने गाय के मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि, ‘ये सब राजनीतिक है और वोटबैंक राजनीति के अलावा कुछ भी नहीं है और जनता का बेवकूफ बना रहे हैं।’

मार्कंडेय काटजू ने कहा कि, ‘गाय एक जानवर है और वह किसी की माता कैसे हो सकती है? आपके अंदर कोई अक्ल-भेजा बिलकुल भी नहीं है क्या? इसके अलावा मार्कंडेय काटजू ने भारत के नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि, यहाँ के नेता ज्यादातर बदमाश और निकम्मे है इन लोगों को तो फांसी होनी चाहिए।’ मार्कंडेय काटजू ने भारत के नेताओं को लूटेरा भी और चोर बताया और इन सभी को तो फांसी होनी चाहिए, क्योंकि इन लोगों ने हिंदुस्तान को लूट लिया हैं।

        Loading…

Our Sponsors
Loading...